Ticker

6/recent/ticker-posts

Header Ads Widget

Responsive Advertisement

सड़कों के चेहरे पर झुर्रियां


sadakon ke chehare par jhurriyaan


सड़कों के चेहरे पर झुर्रियां आ गई है

अधिकतर जगह__

उनके बदन पर घाव निकल आये हैं 


Sadakon ke chehre par jhurriyaan aa gayee hai

adhiktar jagah__

unke badan par ghaao nikal aaye hain



लोग आते-जाते उनके घावों को कुचलते हैं

पैरों से ,वाहनों के खुरदरे पहियों से 

वे कराहते हैं, चिल्लाते हैं 


Log aate-jaate unke ghaao ko kuchalte hain

pairon se, vaahanon ke khurdare pahiyon se

ve karaahate hain, chillaate hain



मगर अफसोस! चुनावी रैलियों,दंगों और पक्ष-विपक्ष के शोर में 

उनके कराहने की आवाज़ें दबा दी जाती है। 


Magar afsos! chunaavee railiyaan, dangon aur paksh-vipaksh ke shor me

unake karaahane ki Aawaazein daba di jaati hain. 


 __आदित्य रहबर

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां